कंप्यूटर और सॉफ्टवेयर

Computer Memory क्या है ? यह काम कैसे करता है ?

जिस तरह आदमी का दिमाग काम करता है, ठीक उसी प्रकार computer में रैम दिमाग की तरह काम करता है।

इसका उपयोग डेटा और direction को collect करने के लिए किया जाता है। कंप्यूटर की मेमोरी कंप्यूटर में स्टोरेज स्पेस की तरह होती है, जहाँ डेटा को प्रोसेस करना होता है, और प्रोसेसिंग के लिए आवश्यक direction collect होते हैं।

मेमोरी को बड़ी संख्या में छोटे-छोटे भागों में विभाजित किया जाता है जिन्हें कोशिका कहा जाता है।

Computer Memory के प्रकार (Types of computer memory)

Computer Memory ३ प्रकार की होती है

  • Cache Memory
  • Primary Memory/Main Memory
  • Secondary Memory

Cache Memory

Cache Memory काफी हाई स्पीड सेमीकंडक्टर मेमोरी है, जो CPU को गति प्रदान करती है। यह सीपीयू और Primary Memory के बीच बफर के रूप में कार्य करता है।

इसका उपयोग डेटा और प्रोग्राम के उन हिस्सों को रखने के लिए किया जाता है, जो CPU द्वारा सबसे अधिक बार उपयोग किए जाते हैं।

Operating System द्वारा डेटा और प्रोग्राम के हिस्सों को डिस्क से Cache Memory में स्थानांतरित किया जाता है, जहां से CPU उन्हें एक्सेस कर सकता है।

Advantages

  • Cache memory main memory से तेज होती है।
  • यह main memory की तुलना में कम एक्सेस समय का इस्तेमाल करती है।

यह उस कार्यक्रम को संग्रहीत करता है, जिसे थोड़े समय के भीतर execute किया जा सकता है।
यह data को temporary यूज़ के लिए डेटा कलेक्ट करता है।

Disadvantages

  • Cache Memory की क्षमता सीमित है।
  • यह बहुत महंगा है।

Primary Memory of computer

Primary Memory एक कंप्यूटर मेमोरी है, जिसे सीधे CPU द्वारा एक्सेस किया जाता है। इसमें कई प्रकार की Memory शामिल है, जैसे प्रोसेसर cache और system ROM आदि।

हालांकि, ज्यादातर मामलों में, Primary Memory सिस्टम रैम को संदर्भित करता है।

RAM, या Random Access Memory, में एक या अधिक Memory Modules होते हैं जो कंप्यूटर को चलाने के दौरान अस्थायी रूप से डेटा को स्टोर करते हैं। RAM temporary Memory है।

जिसका अर्थ है कि जब बिजली बंद हो जाती है तो उसे मिटा दिया जाता है। इसलिए, हर बार जब आप अपना कंप्यूटर शुरू करते हैं, तो ऑपरेटिंग सिस्टम को Secondary Memory (जैसे हार्ड ड्राइव) से प्राथमिक मेमोरी या रैम में लोड किया जाना चाहिए।

इसी तरह, जब भी आप अपने कंप्यूटर पर कोई एप्लिकेशन लॉन्च करते हैं, तो वह रैम में लोड हो जाता है।

ऑपरेटिंग सिस्टम और एप्लिकेशन को प्राथमिक मेमोरी में लोड किया जाता है, क्योंकि रैम को स्टोरेज डिवाइस की तुलना में बहुत तेजी से एक्सेस किया जा सकता है।

वास्तव में, डेटा को सीपीयू और रैम के बीच सीपीयू और हार्ड ड्राइव की तुलना में सौ गुना अधिक तेजी से स्थानांतरित किया जा सकता है।

Ram में डेटा लोड करने से, प्रोग्राम काफी तेजी से चल सकते हैं और Secondary Memory से लगातार एक्सेस किए गए डेटा की तुलना में बहुत अधिक उत्तरदायी हैं।

Main memory symptoms

  • यह एक सेमी कंडक्टर मेर्मोरी है
  • इसे मुख्य मेमोरी के रूप में जाना जाता है।
  • यदि बिजली बंद है तो डेटा खो जाता है।
  • यह एक कंप्यूटर की कार्यशील मेमोरी है।
  • एक कंप्यूटर Primary Memory के बिना नहीं चल सकता।

Secondary Memory of Computer

सेकेंडरी मेमोरी स्टोरेज डिवाइस को संदर्भित करता है, जैसे हार्ड ड्राइव और सॉलिड स्टेट ड्राइव।

यह रिमूवेबल स्टोरेज मीडिया, जैसे कि USB फ्लैश ड्राइव, सीडी और डीवीडी को भी संदर्भित कर सकता है।

प्राथमिक मेमोरी के विपरीत, द्वितीयक मेमोरी सीधे सीपीयू द्वारा एक्सेस नहीं की जाती है। इसके बजाय, द्वितीयक मेमोरी से एक्सेस किए गए डेटा को पहले रैम में लोड किया जाता है और फिर प्रोसेसर को भेजा जाता है।

Ram एक महत्वपूर्ण मध्यवर्ती भूमिका निभाता है, क्योंकि यह Secondary Memory की तुलना में बहुत तेज डेटा एक्सेस गति प्रदान करता है।

सॉफ़्टवेयर प्रोग्राम और फ़ाइलों को प्राथमिक मेमोरी में लोड करके, कंप्यूटर डेटा को अधिक तेज़ी से संसाधित कर सकते हैं।

जबकि Secondary Memory Primary Memory की तुलना में बहुत धीमी है, यह आम तौर पर कहीं अधिक storage क्षमता प्रदान करती है।

उदाहरण के लिए, एक कंप्यूटर में एक टेराबाइट हार्ड ड्राइव हो सकती है, लेकिन केवल 16 गीगाबाइट रैम। इसका मतलब है कि कंप्यूटर में प्राथमिक मेमोरी की तुलना में लगभग 64 गुना अधिक माध्यमिक मेमोरी है। इसके अतिरिक्त, माध्यमिक मेमोरी गैर-वाष्पशील होती है।

जिसका अर्थ है कि यह विद्युत शक्ति के साथ या उसके बिना अपना डेटा बरकरार रखती है। दूसरी ओर, रैम को तब मिटाया जाता है जब कंप्यूटर बंद हो जाता है या फिर से चालू हो जाता है।

इसलिए, द्वितीयक मेमोरी का उपयोग “स्थायी डेटा,” जैसे कि ऑपरेटिंग सिस्टम, एप्लिकेशन और उपयोगकर्ता फ़ाइलों को संग्रहीत करने के लिए किया जाता है।

Symptoms of secondary memory

  • ये चुंबकीय और ऑप्टिकल यादें हैं।
  • इसे बैकअप मेमोरी के रूप में जाना जाता है।
  • यह एक गैर-वाष्पशील मेमोरी है।
  • यदि बिजली बंद है तो भी डेटा स्थायी रूप से संग्रहीत किया जाता है।
  • इसका उपयोग कंप्यूटर में डेटा के भंडारण के लिए किया जाता है।
  • कंप्यूटर द्वितीयक मेमोरी के बिना चल सकता है।
  • प्राथमिक यादों की तुलना में धीमी।

Also Read: Input Devices of Computer (कंप्यूटर के इनपुट डिवाइस )

मेमोरी का उपयोग कैसे किया जाता है?

जब कोई प्रोग्राम, जैसे आपका इंटरनेट ब्राउज़र, खुला होता है, तो इसे आपकी हार्ड ड्राइव से लोड किया जाता है और रैम में रखा जाता है।

यह प्रक्रिया उस प्रोग्राम को प्रोसेसर के साथ उच्च गति पर संवाद करने की अनुमति देती है। आपके कंप्यूटर पर कोई भी चीज़, जैसे कि एक तस्वीर या वीडियो, को सहेजने के लिए आपके हार्ड ड्राइव पर भेजी जाती है।

कंप्यूटर के लिए मेमोरी महत्वपूर्ण या आवश्यक क्यों है?

कंप्यूटर में प्रत्येक उपकरण अलग-अलग गति से संचालित होता है और कंप्यूटर मेमोरी आपके कंप्यूटर को डेटा को जल्दी से एक्सेस करने के लिए जगह देती है।

अगर सीपीयू को हार्ड डिस्क ड्राइव की तरह एक सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस के लिए इंतजार करना पड़ता है, तो कंप्यूटर बहुत धीमा हो जाएगा।

Computer Memory Unit

मेमोरी यूनिट डेटा की मात्रा है जिसे स्टोरेज यूनिट में स्टोर किया जा सकता है। यह Storage Capacity Bytes के संदर्भ में व्यक्त की जाती है।

  • Bit (Binary Digit)
  • Nibble
  • Byte
  • Word
  • Kilobyte (KB) – 1 KB = 1024 Bytes
  • Megabyte (MB) – 1 MB = 1024 KB
  • TeraByte (GB) – 1 GB = 1024 MB
  • TeraByte (TB) – 1 TB = 1024 GB
  • PetaByte (PB) – 1 PB = 1024 TB

हम आशा करते है की कंप्यूटर मेमोरी क्या है ?, यह कैसे काम करता है ?, कंप्यूटर मेमोरी कितने प्रकार की होती है ?, कंप्यूटर की मेमोरी यूनिट क्या होती है आदि इस पोस्ट में सभी सवालो के जवाब समझ में आये होंगे।

धन्यवाद्

Leave a Comment

17 − one =